Click to Download this video!

रीना की चूत के बाद चाची की चूत फाड़ी

Rina ki chut ke baad chachi ki chut faadi:

Antarvasna sex stories

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मुझे उम्मीद है की आप सभी लोग ठीक ही होगे और मेरी इस कहानी के पुरे मज़े ले ही रहे होंगे | दोस्तों मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम न लेते हुए सीधे कहानी को शुरू करता हूँ | मेरी चचेरी बहन रीना जो की बहुत ही चुद्दकड़ थी | उसको मैंने अपने दोस्तों के साथ मिल कर बहुत बार चोदा था |

अब तो बस चुदाई का ही मूड बना रहता और मैं मौका मिलते ही अपनी बहन की जम कर चुदाई कर लेता था | एक बार की  बात है मेरा जम के चुदाई करने का मन हुआ मैं रात को रीना के पास पहुँचा |

लेकिन दोस्तों उस दूसरी रात रीना ने मुझे चोदने नही दिया था क्यूंकि उसकी चूत की हालत ख़राब कर दी थी मेरे दोस्तों ने | उसकी चूत को चोद चोद कर सुजा दिया था और उसकी चूत फूल कर पाव रोटी हो गयी थी | दोस्तों उस रात मैं सो गया और उसके अगले दिन मेरे मम्मी और पापा आ गए |

उसके बाद कुछ दिनों तक मेरा और रीना का कोई प्लान नही बना और उन दिनों मेरा मन चुदाई का बहुत कर रहा था तो मैंने उस दिन अपने दोस्तों को फ़ोन किया और कहा की मुझसे आके मिलो | तब मेरे तीनो दोस्तों हमेशा की तरह आये और हम सब बैठ कर खाते हुए बात करने लगे |

वो तीनो मेरी बहन की तारीफ कर रहे थे और बोल रहे थे की यार फिर एक बार अपनी बहन से मिला दो ?

मैं हाँ मिला दूंगा यार टाइम आने दो ? पर तुम लोग मेरा एक काम करो ?

वो सब एक साथ बोले क्या काम है ?

मैं यार उस दिन के बाद कोई मौका नही मिला है जिसकी वजह से मैंने चुदाई नही की है तो यार अब कोई लोग अपनी किसी की चूत दिलाओ मुझे | तब मेरे दोस्त बोले हाँ क्यूँ नही यार मैं अपनी भाभी को पटाता हूँ और दुसरे दोस्त बोला की यार मैं अपनी चाची को कभी बार चोद चुका हूँ तो उनसे बात करके देखता हूँ |

वो बहुत चुदक्कड है और जल्दी ही मान जाएँगी |

दोस्तों तब मैंने तुरन्त ही कह दिया की यार तू अपनी चाची को ही मना ले क्यूंकि मैंने उसकी चाची को देखा था | दोस्तों एकदम मस्त माल लगती हैं | मेरी नज़र उन पर बहुत पहले से थी और मैं उन्हें चोदना चाहता था |

दोस्तों उस दिन जब उसने ये बात कहीं तो मुझे ऐसा लगा की मुझे उनके हुस्न से खेलने को मिलेगा | उस दिन हम सब कुछ देर तक ऐसे ही बात करने के बाद अपने – अपने घर चले गए | जब हम सब लोग अपने अपने घर चले गए तब मैं अपने दोस्त की चाची के हुस्न को अपने मन में अमेजिंग करने लगा जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया |

अब मुझसे रहा नही जा रहा था तो मैने अपने दोस्त को फ़ोन किया और पूछा ही लिया की क्या हुआ ?

वो : यार मेरी चाची तैयार हैं और वो भी तुम्हे पसंद करती हैं |

दोस्तों उस दिन मुझे बहुत ख़ुशी हुई और मैं उनके नाम से खड़े हुए लंड को हाथ में पकड कर आगे पीछे करने लगा | मैं अपने लंड को हाथ में पकड कर मुठ मारने लगा था और कुछ ही देर में मैंने अपने लंड का मॉल उनके नाम से निकाल दिया | उसके दुसरे दिन जब हम सब दोस्त मिले तो मेरा दोस्त मुझसे पूछने लगा की यार मेरे घर में तो सब लोग रहते हैं तो यार ये तो हो नही सकता |

तब मैंने उसे बताया की हम एक दिन तुम्हारी चाची को लेकर कहीं घुमने चलते हैं |

वो हाँ यार ये प्लान काम कर जायेगा और इससे घर में किसी को पता भी नही चलेगा |

दोस्तों उस दिन हम सब लोग घुमने का प्लान बना लिया और सबको बता दिया की किसको क्या लाना है | उस दिन मैंने अपने एक दोस्त को कार लाने के लिये कहा |

उसके दूसरे दिन वो अपनी चाची को लेकर आ गया और हम सब उस कार में बैठ कर घुमने चल दिए | मेरा एक दोस्त कार चला रहा था और एक दोस्त उसके पास वाली सीट पर बैठा था | मैं और मेरा दोस्त जिसकी चाची थी कार की पीछे सीट पर बैठे थे |

मैं उसकी चाची के हुस्न को निहार रहा था और वो मुझे देखकर स्माइल कर रही थी | दोस्तों उसकी चाची मुस्कराती हुई बहुत सेक्सी लग रही थी | मैं उनके पास बैठ कर उनकी जांघ को सहला रहा था और वो मुझे ये करते देखकर स्माइल कर रही थी | दोस्तों जब वो स्माइल करने लगी तो मैं उनकी और खिसक गया और अपने एक हाथ को धीरे से उनके बूब्स पर रख दिया जिससे वो मचल गयी |

वो मुझे ऐसा करते देख बोली की यार थोडा इंतजार करो मैं यार तुम्हे देखकर मुझसे रहा नही जा रहा है | दोस्तों मैं और मेरे दोस्त की चाची ऐसे ही बात कर रहे थे तभी उसने कार रोक दी | मैं यार कार क्यूँ रोक दी | वो यार कार इसके आगे नही जा सकती है | इसके अगे हमे चल कर जाना होगा |

तब हम सब लोग कार से नीचे उतार गए और आगे की और बढ़ने लगे | हम सब ऐसे चलते हुए कुछ ही देर में एक ऐसी जगह पहुच गए जहाँ पर बहुत अच्छा लग रहा था और हम सबको काम करने में आच्छा भी लगता वहां |

फिर हम सब लोग वहीँ पर कुछ देर तक इधर उधर देखने के बाद काम को शुरू किया | दोस्तों मैंने चाची को अपनी बाहों में भर लिया और वो मुझसे लिपट गयी | मैं उनको बाँहों में भर कर अपनी होठो को धीरे से उनकी होठो पर रख दिया | मैं उनकी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगा और वो मेरी होठो को चूसने लगी |

मैं उनकी होठो को चूसने के बाद हम सब ने अपने अपने कपडे निकाल दिए साथ में चाची के कपडे भी निकाल दिए | दोस्तों जब चाची ब्रा और पैंटी मे मेरे सामने खड़ी थी तो मैं उनके जिस्म को देखता ही रह गया क्या जिस्म था | सोने की तरह चमक रहा था |

फिर चाची अपने घुटनों के बल नीचे बैठ गयी | चाची मेरे एक दोस्त के लंड को हाथ में पकड लिया और मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिलाती हुई मुंह में रख लिया | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | वो सबके लंड को एक एक करके कुछ देर तक चुस्ती रही जिससे सबका लंड गिला हो गया था |

फिर मैंने उनकी गुलाबी चूत में अपनी जीभ को घुसा दिया जिससे उनके मुंह से हल्की हल्की आवाज में सेक्सी आवाजे निकल गयी | मैं उनकी वो आवाजे सुनकर उनकी चूत में अपनी ऊँगली घुसा दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | मैं उनकी चूत में कुछ देर तक ऐसे ही करता रहा और दूसरी तरफ मेरे दोस्त चाची के बूब्स को मुंह में रख कर चूस रहे थे | वो ऐसे ही कुछ देर तक चाची के बूब्स को एक एक करके चूसते रहे | फिर मैंने चाची की टांगो को उठा कर उनकी चूत में अपने लंड को धीरे से घुसा कर चोदने लगा |

मेरा लंड जैसे ही उनकी चूत में घुसा तो उनके मुंह से एक जोरदार की चीख निकल गयी | मैं उनकी चूत में लंड को डाल कर चोद रहा था और मेरे दोस्त चाची के मुंह में अपने लंड को डाल कर चूसा रहे थे | मैं उनकी चूत में ऐसे ही कुछ देर तक लंड को डाल कर चोदता रहा | फिर लंड को चूत से निकाल कर मैंने अपने लंड को चाची के मुंह में घुसा कर चुसाने लगा |

मेरा एक दोस्त नीचे लेट गया और चाची उसके लंड पर अपनी गांड के छेद को रख कर बैठ गयी | दोस्तों उनकी गांड में मेरे दोस्त का पूरा लंड अंदर तक समां गया और वो अपनी गांड को उठा उठा कर चुदने लगी | जब वो चुदने लगी तो मेरे दुसरे दोस्त ने अपने लंड को उनकी चूत में घुसा दिया |

फिर जोर जोर से चोदने लगा और वो चुदने लगी | दोस्तों हम सब ने चाची को एक एक करके चोदते रहे और चाची मज़े लेती हुई चोदने लगी थी | हम सब चाची को एक एक करके चोदते रहे और फिर सब हम लोग झड़ गए | हम लोग झड़ने के बाद कपडे पहन कर कार में बैठ गए और घर की और चल दिये |

जब हम घर की और जाने लगे तो एक बार मैंने चाची की चुदाई कार में की और इस बार मैंने अपना माल चाची की चूत में ही निकाल दिया | दोस्त उस दिन चाची की चुदाई के बाद मैंने उनको और 2 बार चोदा हैं |


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


nisha ki chudaisambhog katha hinditeacher ne school me chodamoti aunty ka sexmastram ki chudai kahani in hindichachi ki chut chudaihindi sex kahani hindibiology teacher ko chodaladki ko kaise choda jayesachi sex kahanihindi chudai ki kahaniya in hindichodam chodairekha hindi sexbhabhi ki chudai ki kahani hindi maihindi rape kahanichudai hindi kathakhet me chudai ki storieschoot bfbabita sex storysambhog ni vartahindi saxihindi sex kahani photopdf hindi sex story downloadlund or chut ki kahanigangbang ki kahanibhabhi ki chut chataimote chutmeri chut ki kahanidevar bhabhi chudai ki kahanihindi rajasthani sexgand chut ki kahanichut ka kamalsadhi maa photosavita bhabhi sex story in hindiantarvasna indian hindi sex storiesbeti chutbhai bahan ki storyantarvasna savita bhabhichudai story behansex story hindi chudaikashmiri chudaistudent aur teacher ki chudaimari chutchudai story hindi newbhabhi ka doodhchodan sexfree hindi porn storiesbhabi indian sexbadi didi ki chudai kiaaliya bhat sexke sathbahan ko choda videomusi ki chodailand chut mehindi sex story in hindi languagechodna sikhayebua ko choda storybahan bhai ki chudaisalwar me gaandmaa sex kahanisexy bhai behansexy boor dikhaonaukrani ki chodaichodne ki kahanibhabhi ki lal chutsasur ne bahu chodachut lund ka khelbap beti sex videopictures suhagratsasur ne bahu chodaharyanvi bhabhibhai bahan ki choda chodiamarika sexchut chatne ki storychut chudai ki nayi kahanirenu ki chudaimalkin ki chudai kahanibahan ki chudai kichudai ki kahani mausi kibhai behan ki chudai ki kahani hindipapa ne chodaneha ki chut me lund