Click to Download this video!

पड़ोस में रहने वाले युवक की किस्मत अच्छी निकली

Pados me rahne wale yuvak ki kismat achchhi nikli:

hindi sex stories, antarvasna

मेरा नाम प्राची है मैं अजमेर की रहने वाली हूं, मेरे पति दिल्ली में नौकरी करते हैं और हमारी शादी को 3 वर्ष हो चुके हैं। मैं अपने सास-ससुर के साथ रहती हूं, मेरे देवर भी बेंगलुरु में नौकरी करते हैं और मेरे पति को दिल्ली में काम करते हुए दो वर्ष हो चुके हैं। वह पहले अजमेर में ही एक कंपनी में जॉब करते थे लेकिन अजमेर में उनकी सैलरी कम थी और उन्हें जब दिल्ली से ऑफर आया तो वह दिल्ली चले गए। यह बात कुछ महीने पहले की ही है। मेरे पति ने मुंबई में एक कंपनी में अप्लाई किया था और उनका वहां पर सिलेक्शन हो गया, उन्होंने मेरे सास-ससुर से कहा कि मेरा मुंबई में सिलेक्शन हो चुका है और मैं कुछ दिनों के लिए प्राची को अपने साथ मुंबई में लेकर जाना चाहता हूं क्योंकि वहां पर मुझे घर का सारा सामान सेट करना है और मेरे पास इतना ज्यादा वक्त नहीं हो पाएगा, मुझे कंपनी की तरफ से ही रहने के लिए घर मिल चुका है।

जब मेरे ससुर जी ने मेरी जाने के लिए हामी भर दी तो उसके बाद मेरे पति कुछ दिनों के लिए छुट्टी लेकर अजमेर आ गए और वह कुछ दिनों तक अजमेर में ही थे। हम दोनों मुंबई चले गए तो मैं मुंबई में अपने आप को एडजेस्ट नहीं कर पा रही थी क्योंकि जिस फ्लैट में वह रहते थे वहां आसपास मैं किसी को भी नहीं पहचानती थी। कुछ दिन तक तो वह मेरे साथ थे लेकिन जब उन्होंने अपने ऑफिस जाना शुरू किया तो उसके बाद वह मुझे समय नहीं दे पा रहे थे और मैं उन्हें कहने लगी की मैं घर में अकेली बोर हो जाया करती हूं। वह कहने लगे बस कुछ समय की बात है उसके बाद मैं भी कुछ दिनों के लिए छुट्टी ले लूंगा और थोड़ा रूटीन ऑफिस से आने जाने का सही हो जाए तो मैं तुम्हें वक्त भी दे पाऊंगा।  उस दौरान मैं अकेली ही घर में रहती थी। मेरे पति को जिस कॉलोनी में फ्लैट मिला था उस कॉलोनी में सब कुछ अंदर ही मिल जाता था इसीलिए मैं जब शाम को निकलती भी थी तो ज्यादा दूर तक नहीं जा पाती थी और मुझे रास्तों की भी ज्यादा जानकारी नहीं थी इसलिए मैं कहीं भी जा नहीं सकती थी। एक बार मैं और मेरे पति घूमने के लिए चले गए, उस दिन मेरे पति ने ऑफिस से छुट्टी ले ली थी और मैं उनके साथ पहली बार ही घूमने के लिए मुंबई में गई।

उस दिन मेरे पति और मैंने काफी समय साथ में बिताया उस दिन मुझे बहुत अच्छा भी लगा, मैंने अपने पति से कहा कि अब मैं तुम्हारे साथ ही रहना चाहती हूं, वह मुझसे कहने लगे चाहता तो मैं भी हूं कि तुम मेरे साथ ही रहो लेकिन घर में मम्मी पापा की देखभाल करने के लिए भी तो कोई चाहिए। मैंने उनसे कहा कि हमारी शादी को भी अब 3 वर्ष हो चुके हैं और अब तक हम लोगों ने अपनी फैमिली प्लानिंग भी नहीं की है, हमें अपने आगे के भविष्य के बारे में भी सोचना चाहिए। मेरे पति मुझसे कहने लगे मैं भी इस बारे में काफी सोचता हूं लेकिन अभी सिर्फ मेरे दिमाग में पैसा कमाने को लेकर बात चल रही है क्योंकि मैं चाहता हूं पहले मैं थोड़ा समय कुछ अच्छे से पैसे कमा लूं उसके बाद ही मैं इन सब चीजों के बारे में विचार करूंगा और फिर हम लोग फैमिली के बारे में आगे सोचेंगे। मैंने उनसे कहा हमें जल्दी ही फैमिली प्लानिंग कर लेनी चाहिए क्योंकि समय भी निकलता जा रहा है। कुछ दिन मेरे पति और मेरी खुल कर बात हो पाई क्योंकि हम लोग कभी भी घर से बाहर घूमने के लिए नहीं गए थे और जब उस दी  हम लोग घूमने गए तो मैं अपने पति से अकेले में बात कर पाई।  मेरी सास का भी फोन आ गया और वह कहने लगी मुंबई में तुम्हें कैसा लग रहा है, मैंने उन्हें कहा कि मैं तो बोर हो रही हूं क्योंकि मैं किसी को भी नहीं जानती इसलिए मुझे थोड़ा अजीब सा लग रहा है। मेरी सास कहने लगी चलो कोई बात नहीं तुम्हें कुछ समय बाद वहां पर अच्छा लगने लगेगा, तुम थोड़ा समय वहां पर दो तो तुम्हें अच्छा लगेगा। मैंने उनसे कहा हां मैं भी अब थोड़ा बहुत बाहर घूमने चली जाती हूं और अकेली ही टहल आती हूं। मेरी अपनी सास से काफी देर बात हुई और उसके तुरंत बाद मैंने अपने पापा को भी फोन कर दिया। उस दिन मेरे पापा से भी मेरी काफी देर तक मेरी बात हुई।

अब मेरे पति को ऑफिस से थोड़ा समय मिल जाया करता था इसलिए हम लोग शाम के वक्त थोड़ा घूम आते थे, जिससे कि मेरा मन भी अब लगने लगा था, मुझे भी अब अच्छा लगने लगा था। एक दिन मेरे पति ऑफिस से जल्दी आ गए, उन्होंने मुझे कहा कि आज हम लोग बाहर से ही खाना आर्डर करवा लेते हैं। हमारे बिल्डिंग के सामने ही एक रेस्टोरेंट था तो मेरे पति ने उन्हें फोन कर के घर पर ही खाना मंगवा लिया। उस दिन हम दोनों ने घर पर ही खाना खाया। अगले दिन जब मेरे पति सुबह उठे तो वह कहने लगे मुझे तो आज एक जरूरी मीटिंग में जाना था और मुझे याद ही नहीं रहा,  उन्होंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और जल्दी से वह ऑफिस के लिए निकल पड़े, मैंने उन्हें कहा आप इतनी जल्दी में कहां जा रहे हैं। मैं उस वक्त सोकर ही उठ रही थी लेकिन वह उस दिन बड़ी जल्दी में निकल गये और उन्होंने सुबह का नाश्ता भी नहीं किया। उस दिन सुबह मेरा बड़ा मूड था लेकिन वह ऑफिस के लिए जल्दी निकल गए, रात को वह जल्दी सो गए थे इसलिए मेरी सेक्स की इच्छा अधूरी रह गई। मैंने उन्हें फोन किया और कहा कि मेरी सेक्स की इच्छा रात को अधूरी रह गई। वह मुझे कहने लगे कोई बात नहीं मैं आज रात को तुम्हारी इच्छा पूरी कर दूंगा लेकिन मुझे तो अभी जरूरत थी। मैंने उस दिन साफ सफाई की जब मैंने दरवाजा खोलो तो मैंने पहली बार ही हमारे सामने वाले फ्लैट में एक लड़के को देखा, मैं उसे बड़े ध्यान से देखती रही वह भी मेरी तरह बड़े ध्यान से देखता रहा, मैंने उसे अपने बड़े बड़े स्तन दिखाने शुरू कर दिए।

वह मेरी पूरी बात समझ चुका था, जब वह मेरे पास आया तो मैंने उसे अंदर कमरे में बुला लिया क्योंकि उस दिन मेरी चूत से बहुत ज्यादा पानी बाहर निकल रहा था और मुझे किसी लंड की सख्त जरूरत थी। जब वह मेरे साथ बैठा हुआ था तो मैंने उसका नाम पूछा उसका नाम गौरव है। गौरव मुझे कहने लगा मैं आपके सामने वाले फ्लैट में ही रहता हूं। मैंने उसे कभी भी नहीं देखा था उसने मेरी जांघ पर जब अपने हाथ को रखा तो मैं पूरी उत्तेजना में आ गई और मेरा मूड होने लगा। मैंने भी जल्दी से अपने कपड़े उतार दिए, गौरव ने मेरी चूत के अंदर उंगली डाली तो मेरा पानी बाहर की तरफ निकलने लगा। गौरव ने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया, जब वह मेरी योनि का रसपान करता तो मेरी योनि से तीव्र गति से पानी निकालता। उसने भी अपने लंड को मेरी योनि के अंदर डाल दिया और मुझे धक्के मारना शुरू कर दिया। वह मुझे भी तेजी से चोद रहा था और मेरे स्तनों का रसपान भी बहुत बड़े अच्छे से कर रहा था। उसने मेरे स्तनों पर लव बाइट भी मार दी और मेरे निप्पल को चूस चूस का उसने मेरा दूध बाहर निकाल लिया। जब उसने मेरे मुलायम और नाजुक होठों पर अपने होठों को लगाया तो मुझे बड़ा अच्छा महसूस होने लगा। मैं भी अपने मुंह से बड़ी तेज आवाज में मादक आवाज निकाल रही थी और मेरी गर्म सांसे गौरव से टकरा रही थी। गौरव मुझे उतनी ही तेज गति से धक्के मारता जितनी तेज गति से मैं मादक आवाज अपने मुंह से निकाल रही थी। गौरव मुझे कहने लगा भाभी आपके यौवन का रसपान कर के तो मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा है। मैंने उसे कहा आज मेरा बड़ा मूड था और आज तुम्हारा दिन भी अच्छा था कि तुम्हें मेरा यौवन का रसपान करने का मौका मिल गया नहीं तो मैं किसी के साथ भी संभोग नहीं करती। गौरव की गर्मी से मेरा शरीर पूरा तरह से संतुष्ट होने लगा, जिस प्रकार से वह मुझे धक्के मार रहा था मैं भी ज्यादा समय तक उसके झटको को नहीं झेल पाई, मैं झड़ चुकी थी। जब मैं झड गई तो मैंने अपनी योनि को टाइट कर लिया और गौरव भी ज्यादा समय तक मेरी टाइट चूत को बर्दाश्त नहीं कर पाया और जैसे ही उसका वीर्य मेरी मुलायम योनि के अंदर गया तो मै उस से लिपट कर लेट रही। गौरव मुझे हमेशा ही बजाने आ जाता है।


Comments are closed.


error:

Online porn video at mobile phone


tution teacher ki gand marikuwari ladki ki chudai hindi storynew chudai story in hindiaunty ko chodne ki kahanichudai ki kahani hindi mainjija sali ki chudai kahani hindirandi ki gand chudaididi ki chudai hindi sexy storychudai bhojpurisexy story by hindiindian chudai storima bete ki chudai ki kahaniyanmaa ki chudai sex story in hindighode se chudaisavita bhabhi ki chudai porn videodidi ki chudai ki kahani in hindigandi bhabhinew sex hindi kahanikuwari mausi ki chudaimaa ki chudaibeta ne maa ko chodaindian sex story issantarvasna video hdbahan ki chudai ki kahani hindisasur ne bahu ki chudai ki kahanilatest indian sex storiesnew chudai story in hindiafrican ne chodasax kahaniyahindi sexy story websitehindi me chudaiwww desi chudai ki kahaniindian ladki chudaibalatkar wali chudaidevar bhabhi sexy kahaniBahuchudaistory.mastrambadi bhabhibadmosti in14 saal ki chutchut com storydesibees hindiladkiyo ki chut ki photobur ki chudai ki kahanimummy ki chudai khet menai dulhan ki chudai videopriyanka ki chut marimaa or beti ki chudaidesi maa sex storymaa ki chudai photosexy bhai behanchachi ko choda story in hindisex alia bhatsavita bhabhi ki kahani with photobehan ki chudai hindi kahanidesi chut ki kahanihot story of savita bhabhichachi ki chut kahanibhabhi ki mast chudai hindi sex storynangi bhabhi comnangi didistory maa ki chudaipyasi chachi ki chudaisexy boor ki chudaichoot mai landchudai bahu kikamsin jawaniladkiyo ki chut ki photosex ki story in hindikamvasanachoot ki chataichudai sexy storypahali bar chudaimastram ki chudai ki kahani hindijija sali hindi storysavita bhabhi sex stories comicschut lund ki storyaunty ki chudai ki storiesmuslim ki chudai storyindian sex stories realbholi ladki ki chudaibehan ko jam ke chodamaa bete se chudai