Click to Download this video!

ऑफिस ट्रेनिंग -2

Office training-2:
office sex हैल्लो दोस्तों, मैं शबीना आप सभी के सामने फिर से हाजिर हूँ अपनी पुरानी कहानी को पूरा करने के लिए | मेरी पिछली कहानी ऑफिस ट्रेनिंग को काफी लोगो ने सराहा है और मुझे बहुत सारे मेल्स भी आये जिस वजह से मुझे ये प्रोत्साहन मिला है कि मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी का अगला भाग पेश करू | जिन लोगो ने मेरी पहली कहानी पढ़ी है वो लोग तो मेरे बारे में जानते ही हैं पर जो लोग मेरी कहानी पहली बार पढ़ रहे हैं वो लोग मेरी पिछली कहानी जरुर पढ़े | उन लोगो के लिए, मेरा नाम शबीना है उम्र 26 साल है और मेरा फिगर उतना आकर्षण तो नहीं है पर कहते हैं न दूध और गरीब आदमी दोनों ही दबाये जाते हैं बस वही मेरे साथ भी है | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए सीधा अपनी कहानी के अगले भाग को पूरा करती हूँ |

अब मैं अकेली तो हो गयी पर मेरा मन बार बार शहनवाज की तरफ ही जा रहा था | उस दिन मुझे मच्छर बहुत काट रहे थे तो मैंने उन्हें फोन किया और पूछा कि यार आप के पास कुछ ऐसा है क्या जिससे मच्छर दूर हो सके ? तो उन्होंने कहा यार ऐसा तो कुछ नहीं है पर अगर तुम चाहो तो मेरे रूम में आ सकती हो | मैंने भी सोचा ठीक है एक रात की ही तो बात है | मैंने उस वक़्त सिर्फ एक गाउन ही पहना हुआ था | मैं अपने रूम में लॉक लगा के उसके रूम में गई तो देखा कि वहां डबल बेड था | अब उसने लाइट बंद किया हम दोनों सो रहे थे लेकिन नींद किसी को भी नहीं आ रही थी | मैंने उनसे पूछा कि क्या हुआ आपको नींद नहीं आ रही है क्या ? तो उन्होंने कहा कि यार मैंने तुम्हे प्रोपोस किया पर अभी तक तुम्हारा जवाब नहीं मिला | तो मैंने कहा पागल लड़की की ख़ामोशी का मतलब हाँ ही होता है | ये सुन कर वो मचल उठा और उसने मुझे खींच कर अपनी तरफ कर लिया और अब हम दोनों के चेहरे आमने सामने थे | फिर उसने पूछा तुम सच कह रही हो न ? मैंने कहा हाँ माय डिअर ! ये सुन कर वो खुश हो गया |
फिर उसने अपने होंठ मेरे होंठ से दबा दिए और किस करने लगा | मैं भी उसका साथ देने लगी | कुछ देर किस करने के बाद उसने मेरे गाउन को उतार दिया और मेरे संतरे के साइज़ के दूध देख कर उसपे टूट पड़ा | अब वो मेरे दूध को दबा रहा था और मेरे मुंह से अआः ऊउम्म्न ऊम्मन्न्ह्ह आआहा अआहा ऊम्मंह और जोर से दबाव आहा ऊउम्मंह ऊउम्म्ह आहा मसल कर रख दो मेरे दूध को हाय कितना मजा आ रहा है ऊम्म्म्ह आहा ऊउन्न्ह ऊउफ़्फ़ और वो मेरे दूध को जोर जोर से अपने होंठ में दबा कर चूस रहा था और निप्पलस भी खींच खींच कर चूस रहा था और मैं बस सिस्कारिया ले रही थी | अब मैं गरम हो चुकी थी तो मैं भी उसके हाफ पेंट के अन्दर हाँथ डाल के उनके लंड को सहलाने लगी तो वो भी आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह ऊम्ह करने लगा | फिर वो उठा और लाइट जला दिया और तो तुरंत मैंने अपने पैरो को सिकोड़ लिया और अपने दूध पर हाँथ रख लिया तो उसने पूछा क्या हुआ ? तो मैंने कहा मुझे लाइट में ये सब पसंद नहीं है | उसने कहा देखो मैंने आज टक ये सब नहीं किया है तो तुम इतना शरमाओ मत | मैं भी तुम्हारी तरह ही कुंवारा हूँ | ये सुन कर मुझे बहुत अच्छा लगा तो मैं नार्मल हो गई | फिर उसने मेरी पेंन्टी को उतार दिया और उसने अपने हाफ पेंट और अंडरवियर को भी उतार दिया | उसका लंड ज्यादा बड़ा तो नहीं था पर मैंने कभी लंड नहीं लिया था अपनी चूत में तो मुझे नार्मल साइज़ के लंड से भी डर लग रहा था | उसने मुझे लंड चूसने को कहा तो मैंने झट से उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर सहलाने लगी | फिर मैंने उसके लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी तो वो ऊउम्म्ह अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | मैं उसके लंड को चाट चाट कर अच्छे से गीला कर दिया और फिर उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी तो वो ऊम्म्म्ह आन्हाआ ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउम्म्ह आऊउन्न्ह करते हुए मेरे मुंह की चुदाई करने लगा | उसके लंड से मेरे मुंह भर गया था और वो एक दम गले तक अपना लंड उतार रहा था | मैं भी उत्तेजना में थी उसके लंड को मना नहीं कर पा रही थी |

फिर उसके बाद उसने मेरी दोनों टांगो को फैला दिया और अपनी जीभ मेरी चूत में रख कर चाटने लगा तो मैं भी आअहाआ ऊउंह ऊम्म्म्ह आहा ऊउम्म्ह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी | वो मेरी चूत को बहुत अच्छे से और अपनी जीभ अन्दर डाल कर चूस रहा था और साथ में मेरे चूत के दाने को भी होंठ में दबा कर चूस रहा था और मैं अआहा ऊउम्म्मंह करते हुए बस चूत चुस्वायी का आनंद ले रही थी | जब वो मेरी चूत चाट रहा था तो मैं ऐसा महसूस कर रही थी जैसे मैं किसी जन्नत में हूँ और सातवें असमान में खुद को पा रही थी | फिर उसने अपनी एक ऊँगली मेरी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करने लगा तो मैं बस मदमस्त होने लगी | फिर उसने अपनी दूसरी ऊँगली भी मेरी चूत के अन्दर डाल दिया और अन्दर बाहर करने लगा | मैं तो मानो पागल सी होने लगी हाय वो मीठा दर्द क्या एहसास था | उसके बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत में टिकाया और लंड का सुपाड़ा ही अन्दर किया होगा कि मुझे बहुत दर्द हो हुआ और मेरे मुंह से निकला कि लंड निकाल मादरचोद बहुत दर्द हो रहा है फट जायगी मेरी चूत आआहा ऊउन्न्ह बहुत दर्द हो रहा है कमीने लंड निकाल |

फिर उसने अपने लंड को बाहर निकाल लिया और एक जोर दार झटके से आधा लंड मेरी चूत में डाल दिया | मैं खुद को संभाल पाती कि उसके लंड के वार से मुझे वक़्त ही नहीं मिला और मैंने कहा मादरचोद आआआहा कितना दर्द हो रहा है बहनचोद अपने लंड को बाहर निकाल | हाय मर गयी मेरी चूत मर गयी मादरचोद भड़वे लंड निकाल | पर अब वो कहाँ सुनने वाला था उसने फिर एक जोर दार झटके के साथ अपना पूरा लंड मेरी चूत में पेल दिया और चोदने लगा | अब मेरी चूत खुल चुकी थी और मुझे भी मजा आ रहा था तो मैं भी आहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आअहाआअ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह्ज आहाआअ चोद कमीने आज चोद के फाड़ दे मेरी चूत को ऊउम्म्ह आँहा ऊउम्म्ह आआअहाअ मजा आ रहा है और जोर जोर से चोद मादरचोद बस इतना ही दम है क्या तुझमे मादरचोद आआहा ऊउंह | मैं उससे गाली दे रही थी जिससे वो और ज्यादा उत्तेजित हो गया और फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया | अब तो मानो उसमे कोई हवस का शैतान आ गया था | वो मुझे जोर जोर से चोदने लगा और मैं भी आहा ऊउंह ऊउम्म्ह अआहा ऊउम्मंह उयूम्मंह आहा करते अपनी कमर कमर उठा उठा कर उसका साथ देने लगी | उसके हर एक चुदाई के धक्को के साथ मेरी अन्तर्वासना भड़क रही थी और उसके प्यार में मैं भागिदार हो रही थी | इतना मजा मुझे कभी नही आया जितना आज आ रहा था | वो मुझे जोर जोर से धक्के मारते हुए चोद रहा था और मैं बस चुदाई का मजा ले रही थी |

चुदाई के दौरान मैं 3 बार झड़ चुकी थी लेकिन वो अब तक एक बार भी नहीं झड़ा | चुदाई के मामले में दात देनी पड़ेगी उसकी | वो करीब आधे घंटे बाद मेरी चूत के अन्दर ही अपना वीर्य छोड़ दिया और मेरे बगल में लेट गया | हम दोनों ही बहुत ज्यादा थक चुके थे और आजू बाजू लेटे हुए थे | उसने मुझे आई लव यू कहा और मैंने भी आई लव यू टू कहा | फिर हम दोनों ने एक बार और किस किया और फिर सो गए | शहनवाज के फ़ोन का अलार्म सुबह करीब 6 बजे बजा तो हम दोनों की ही नींद खुल गई | हम दोनों ने एक दुसरे की तरफ देखा और मुस्कुरा दिए | फिर मैंने उससे कहा कि यार बाहर निकल कर दखो कोई है तो नहीं न तो वो एक लुंगी पहन कर बाहर देखा और कहा नहीं बाहर कोई नहीं है | उसके बाद मैंने अपने गाउन को पहना और तुरंत भाग कर अपने रूम में घुस गई | मुझे वो रात बहुत याद आती है | उसके बाद मैंने दो महीने तक उससे खूब चुदाई करवाई | कभी वो मेरे रूम में मुझे चोदता तो कभी मैं उसके रूम में जा कर चुद्वाती |
तो दो दोस्तों, ये है मेरी पूरी कहानी | मुझे आप लोगो के मेल्स का इन्तजार रहेगा |


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


www chudai indost ki mummychudai ki khanbehan ki chudai ki storypehli raat ki chudaihindi sex story baap betiindian hindi fuck storiesmaa ko choda sex storyhot sex story in hindiwww xxx hindi kahani comhindu sexy kahanisaxy antytantrik sex storysexy stories in hindi marathiplumber ne chodahindi sex story with bhabhimom ki chudai ki kahani in hindisavita bhabhi ki chudai ki storynew hindi sex kahani combhabhi ki chudai ki desi kahaniboss ne biwi ko chodaindian sexy storybhabhi ki kali chutsexy suhagratbahan ki chudai new storysasur aur bahu ki chudai ki kahaniraat ko chudai kipyasi aurat ki chudaihindi sexy satoriantarvasna new kahanisexy hot chudai storyhindi chut ki kahanibhatije se chuditight chut ki kahanididi ko choda storybhai bahan sex story in hindimaa beta chudai ki kahanikuwari chut ki chudai storychudai wife kichodne wali movieantarvasna ki kahani hindi mebur chudaidesi sex 2016behan ka lundindian suhagrat ki photokuwari ladki ki chudai hindi mebur ki chudaichudai hindi languageantarvasna sex story apphindi heroine sexymaa ko choda bathroom meraand ki chudaisex story suhagratpahari sexbahu chudai storybhabhi ki chut hindi kahanihindi gali pornwww indian sex stories comhot story hindi newbest chudai hindiaunty ki phudi marinew chodai ki kahanisaxy chotholi antarvasnamota lund chudaiapni sex storydesi swxtop 10 chudai ki kahanipariwar me group chudailadko ki chudaidevar & bhabi sexhindi sexy masalachut land ke khanehinde sexe storyantarvaana comzabardasti bhabhi ko chodachoot me khujliseduce karke chodanepali ladki ki chudaichudi story