Click to this video!

क्या हाल है इस औज़ार का देखो ज़रा

Kya haal hai is aujar ka dekho zara:

sex stories in hindi, kamukta

क्या हाल है भाई लोग कैसे हो आप सब ? मैं तो बिलकुल ठीक हूँ और आपके साथ आज आ गया हूँ ताकि आपको एक किस्सा बता सकूँ | जी हाँ दोस्तों मैं अनिल आज आपको एक कहानी बताने जा रहा हूँ जिसे सुनकर आप लोग पागल हो जाओगे और यहाँ वहां भागने लगोगे | आपका लंड मुट्ठ मारने के लिए बेताब हो जाएगा | इसलिए आज मैं अपनी कहानी या मेरी जिंदगी का एक हिस्सा ही समझ लो | मैंने कई बार सोचा है और मैंने कई बार कहानियाँ लिखी भी हैं | पर मुझे एक चीज़ समझ आई और ये चीज़ थी अच्छाई और सच्चाई | दोनों चीज़ें मुझे यहाँ मिली और इस साईट पर मैंने देखा है कि सब अक्सर सही कहानियाँ ही लिखते हैं | मुझे सब चीज़ पसंद है बस एक चीज़ नहीं है और वो है झूट | मैं ना तो आज झूट बोलने के मूड में हूँ और ना ही सुनने के | इसलिए आज का समां बड़ा ही प्यारा है और उम्मीद करता हूँ हमेशा ऐसा ही रहेगा | दोस्तों बड़ा ही अच्छा रहेगा अगर आप सब मेरा अभिवादन करेंगे और मेरी कहानी पढने के बाद वाह उस्ताद कह देंगे | इसलिए अब मैं अपनी कहानी को शुरू करने जा रहा हूँ |

दोस्तों बात कुछ 11 साल पहले की है जब मेरा दाखिला नया नया कॉलेज में हुआ था और उस समय उस कॉलेज का नाम बड़ा ही मशहूर था | राबर्ट्स कॉलेज था कला का एक हमारे शहर में और यहाँ दूर दूर से लोग पढने आते थे | हमारे समय के कई मशहूर नेता और अभिनेता भी इस कॉलेज से पढ़े थे | अब आप जानते हैं पहले के समय में पढने से ज्यादा लोग काम धंदे पर ध्यान देते थे | मेरे पिताजी एक किसान थे और उनका सपना था कि मेरे बच्चे पढ़ लिख जाए और काम करें | मेरी एक बहन भी है और उसने मेडिकल की पढाई करने की इच्छा जताई और पिताजी ने उसके लिए भी सब किया | हम दोनों भाई बहन अच्छे पढ़ लिख गए | बहन डॉक्टर बन गयी और उसके बाद वो विदेश चली गयी | उसकी जिंदगी संवर गयी और उसकी शादी के बाद पिताजी ने भी खेत बेच दिए और शहर आ गए और वहां मुझे भी नौकरी मिल गयी | हम सब का काम आराम से चल रहा था और कोई दिक्कत नहीं थी | बहन ने विदेश में ही शादी की थी और उसके पति मतलब मेरे जीजा जी एक कंपनी के मालिक थे |

उन्होंने हम सब को भी बुल लिया विदेह और वहां हम सब काम करने लगे | अब हमारी इन्दगी और भी ज्यादा संवर गयी क्यूंकि अच्छी खासी आमदनी हो जाती थी | मेरे माँ बाप बा आराम से अपनी जिंदगी जी रहे थे | अब बचा था मैं शादी के लिए और बहन और जीजा जी मुझे लगातार रिश्ते बता रहे थे | पर मुझे शादी करने की कोई जल्दी नहीं थी | पर सबका जोर था इसलिए मैंने कहा ठीक है मैं किसी विदेशी लड़की से शादी करूँगा | सबने कहा देखो साहब शादी भारतीय लड़की से होगी गोरी मेम का कोई भरोसा नहीं रहता आज साथ है कल किसी और के साथ निकल जाएँ | इसलिए सब ने मना कर दिया साफ़ | मुझे सब समझाने लगे पर मेरे दिमाग में एक कीड़ा था किसी विदेशन को चोदने का | दोस्तों क्या है जैसा देश होता है वैसा ही भेस भी रखना पड़ता है | मैंने कई बार यहाँ आकर ब्लू फिल्म का मज़ा लिया है | उसमे मैंने कई बार विदेशी लड़कियों और उनकी चूत को देखा था जो कि बिलकुल चिकनी और गुलाबी रहती थी | उनका बदन भी मस्त रहता था इसलिए मैं बस यही चाह रहा था |

मैंने फिर दिमाग लगाया कि अगर शादी भारतीय लड़की से करनी है और इसमें कोई गलत नहीं है तो फिर मैं किसी विदेशन को पटा के चोद दूँ उसमे क्या गलत है ? ये बस मेरा ख्याल था पर फिर मैंने इसके बारे में अच्छे से सोचा  हमारी कंपनी में एक से एक लडकियां काम करती थी | मैंने सोचा इनमे से ही किसी मस्त माल को पटा के चोद दूंगा और किसी को पता भी नहीं चलेगा | इसलिए मैंने अब छोड़ दिया अपनी किस्मत पर और निगल गया उन गोरी लड़कियों के पीछे | अब सबसे अच्छी बात ये थी कि मैं मालिक का साला था इसलिए मेर रुतबा मस्त था वहां पर | इसलिए मुझे कोई दिक्कत नहीं गई पर उनसे बात करने तक तो थी ठीक था बस उनके साथ पास आने में दिक्कत थी क्यूंकि एक लड़की से मैंने सेटिंग जमाई और उसके साथ चुदाई करने का पूरा इंतज़ाम कर लिया पर उसके बाद उसने कहा आप को मुझसे शादी करनी पड़ेगी | उसके बाद मैंने उससे कहा सुन बे जैसे आई है ना वैसे ही निकल जा नहीं तो दिक्कत हो जाएगी तुझे |

वो निकल गयी वहां से और उसके बाद मैंने सोचा भाई इसमें खतरा है अब कोई दूसरी बंदी देखनी पड़ेगी नहीं तो दिक्कत हो जाएगी मुझे | इसलिए मैंने एक दिमाग लगाया और सोचा कि अगर मुझे कोई लड़की अछूत दे देगी तो मैं उसे हो सकता है अपने घर ले जाऊं और बात करूँ कि मम्मी पापा मुझे इससे शादी करनी है | इसलिए मैंने फिर से एक नयी लड़की को ढूँढना शुरू कर दिया | फिर ना जाने क्यूँ मुझे अन्दर से ये गात लगने लगा पर जब एक लड़की आप के पास खुद चलकर आती है तब आप चाह के भी मना नहीं कर सकते | इसलिए मैं भी नहीं कर पाया और वो शायद मेरे पास काम मांगने आई थी | मैंने कहा देंगे बिलकुल देंगे पर उसके लिए कुछ तो करना पड़ेगा | उसने कहा क्या क्या करना पड़ेगा सर | मैंने कहा अब इतनी अनजान मत बनो जैसे कि तुम्हे समझ ही नहीं आ रहा है | उसने कहा सिर मैं समझ तो रही हूँ पर आप बताइए मैं ऐसा कैसे कर सकती हूँ क्यूंकि मैंने आज तक नहीं किया है |

मैंने कहा ठीक है आज कर लेना फिर तो काम की दिक्कत रहेगी नहीं | उसने कहा ठीक है सिर मैं कल आउंगी आपके पास | उसके बाद मैंने उसे जाने के लिए कह दिया | फिर मैंने सोचा कल अगर मुझे इसको चोदना है तो मुझे इसके लिए सेटिंग जमानी है | मैंने सोचा जीजा जी से कहूँगा मुझे कल कुछ काम है तो मेरा केबिन बंद रहेगा आप हो सके तो किसी को मत भेजना क्यूंकि आज लेट नाईट तक काम करूँगा और उसके बाद वहीँ सो जाऊँगा | उन्होंने कहा ठीक है | मैं ध्यान रखूँगा इसलिए तू घर में भी बता देना एक बार याद से | मैंने कहा ठीक है जीजा जी मैं कर दूंगा याद से फ़ोन पर आब भी जरा याद रखना | उन्होंने कहा ठीक है अब जा | मैं गया और उस लड़की का इंतज़ार करने लगा | अब वो सुबह जल्दी से आ गयी और तब तक ऑफिस में कोई आता भी नहीं है | वो आ गयी और उसके बाद मैंने अपने केबिन में हर चीज़ की सेटिंग करके रखी हुयी थी | उसके बाद मुझे याद आया मैं कंडोम लेना तो भूल ही गया और यही बात मैंने उसको बताई |

उसने कहा मुझे पता था इसलिए मैंने खुद ले लिया था क्यूंकि हम दोनों का पहला प्यार है | मैंने कहा चलो ठीक है और इस चीज़ का ध्यान मैंने खासा रख लिया | अब मैंने उसको पकड़ा और उसको अपने गले से लगा लिया | उसके बाद क्या था मैंने और उसने एक दुसरे को चूमना शुरू कर दिया और वो बड़े ही मस्त अंदाज़ में ये सब कर रही थी | यही तो बात है मुझे विदेशी लडकियां पसंद हैं | पर उसके बाद उसने सीधा मेरे लंड पर हाथ रख दिया और वो मेरे लंड को मसलने लगी | उसके बाद मैंने भी उसके दूध को खोला और जैसे ही खोला मेरा लंड और खड़ा हो गया | उसके दूध बिलकुल गोरे और उसके निप्पल बिलकुल पिंक थे | मैंने सीधा उसके निप्पल पर अटैक किया और उसके बाद मैंने उसके निप्पल को बुरी तरह से चूसना चालू कर दिया | फिर क्या था वो गरम हो गयी और मैं भी गरम हो गया | उसने मेरा लंड बाहर निकाला और उसको चूसने लगी | मैंने कहा मेरी जान और अच्छे से चूसो मुझे जन्नत दिख रही है | उसने कहा ठीक है अब देखो मैं क्या करती हूँ |

उसके बाद उसने मेरे गोते को भी चूसा और उसके बाद मैंने कहा अब मैं तुम्हे चूत का सुख देने वाला हूँ | मैंने उसकी चूत पर मुँह रखा और चाटने लगा | उसकी चूत बिलकुल गीली थी और उसके बाद मैंने उसकी चूत को अच्छे से चाटा और उसके बाद वो कहने लगी अब मेरी चूत मारो | मैंने उसकी चूत में लंड पेल दिया और वो चिल्लाने लगी | उसके बाद मैंने सोचा इसको चुप करना पड़ेगा और उसके बाद मैंने उसके मुँह पे हाथ रखा और उसको चोदने लगा | फिर हमने खूब चुदाई की |


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


chudai ka storybhabhi ko choda devarrandi ki chudai part 3girlfriend ki maribhen ko choderotic sex stories in hindirandio ki chudaiindian sex history in hindinew mom ki chudaidesi gangbang storiesjija sali sex story in hindiakeli bhabhi ki chudaisali ki chudai ki story in hindisex hind combhabhi ke sath sex storyrajasthan sxesushila bhabhi ki chudaihinde fukingmeri chudai ki hindi kahanipariwarik sex storysasur aur bahumeri sex kahanireal chutsunita bhabhi ki chutsex of devar and bhabhichoot ka mootchote bache ki chudaibhai behan chudaisexstoresmausi ko raat me chodamami bhanja sex storybhai behan ki sexy chudai kahanibahan bhai ki chudai ki kahaninew sex hindi kahanimoti gaand auntymaa ki chudai kahanisagi bhabhi ko pata ke chodachudai ki mast mast kahaniyadehati sexyhema ki chutchote bache ke sath sex videochoot ka bhookhahot bhabhi ki kahanichudai story with photo in hindisex ka mazasali ki chudaiindian sax storyshasu ki chudaichut chudai story hindibhai bahan sex hindi storybhabhi ki malish16 sal ki chudaichudai photo storynaukar ke sath chudaimaa aur bete ki sex videosuhagrat ki kahani hindi languagedost ki patni ko chodarandi chudai hindidali ko chodamarathi xossipbap bati sexladkiyon ki chut ki photonepalan ki chudaibhai behan ki kahani in hindiladki ki gand kaise maremaa bete ki sexystory hindi pornsix kahanisex story bhabhi ki chutbilu muvicudai kahani hindinangi bhabhi ki chut photomaa ki chudai hindi me kahanirandi didipyasi aurat ki chudaipuja ke bahane chudaikhet me chudaisavita bhabhi kahanibhai behan ki chudai kahani in hindibua kosexy adult story hindinaukranimast kuwari chut